भाई से चूत की सील तुड़वा ली- 1

(Hot Sister Xxx Kahani)

अरुण सिंह 59 2022-04-06 Comments

हॉट सिस्टर Xxx कहानी मेरे भाई के साथ शुरू हुए सेक्स के आकर्षण की है. एक रात मैं सो रही थी, वो मेरे साथ लेटा हॉट मूवी देख रहा था. मेरी नजर मूवी पर पड़ी तो …

यह कहानी सुनें.

मेरा नाम दीपिका है. मैं 24 साल की हूँ. मैं काफी समय से अन्तर्वासना पर सेक्स कहानी पढ़ रही हूँ.

मेरे घर में मम्मी पापा और एक भाई (विकास) रहते हैं.
मैं और विकास जुड़वां हैं. हम दोनों आपस में काफी ज्यादा खुले हुए हैं. हमारे बीच हर तरह की बात हो जाती थी.

हालांकि तब भी हमारे बीच भाई बहन का रिश्ता कायम था और सेक्स जैसी कोई बात नहीं थी.

मैं आपको आज से 4 साल पहले की घटना के बारे में बताने जा रही हूँ.
ये हॉट सिस्टर Xxx कहानी हमारे मतलब हम दोनों भाई बहन के 19 वें जन्मदिन की है.

मेरे भाई ने जन्मदिन की सारी तैयारी की और हम सभी ने खूब मजा किया.

इस प्रोग्राम में मम्मी पापा बहुत थक गए थे तो वो सोने चले गए.
पर मुझे नींद नहीं आ रही थी.

तभी मैंने देखा कि भाई मोबाइल में मूवी देख रहा है.
मैं भी उसके मोबाइल मूवी देखने लगी.

वो कोई हॉलीवुड मूवी थी.
मेरे भाई को पता नहीं था कि मैं भी मूवी देख रही हूँ.

थोड़ी देर में मैंने देखा उसमें अजीब ही होने लगा.
लड़का लड़की एक दूसरे को किस करते करते एक दूसरे के कपड़े उतारने लगे.
फिर लड़के ने लड़की की चूची चूसना शुरू कर दिया.

मुझे लगा कि भाई मेरी तरफ देखने वाला है तो मैंने अपनी आंख बंद कर ली.

फिर मुझे ‘उम आह …’ की आवाज आ रही थी, तो मैंने धीरे से एक आंख खोल कर देखा.
फिल्म में लड़का लड़की सेक्स कर रहे थे.

मेरा भाई बड़े मनोयोग से मूवी देख रहा था और उसका हाथ उसके लोअर में था.
मैं समझ गई कि ये पक्का अपना लंड हिला रहा है.

ये देख कर तो मेरा पूरा गला ही सूख गया.
मैंने आंखें बंद कर लीं.

तभी मुझे अपने शरीर पर मेरे भाई के हाथ का आभास हुआ.
मैं और भी ज्यादा घबराने लगी.

भाई ने मेरे पैरों से होते हुए अपने हाथों को मेरी कमर की तरफ बढ़ाया, फिर मेरे चूतड़ों पर हाथ फेरने लगा.

यहां मूवी की उम आह सुन कर मेरे शरीर में अजीब सा महसूस हो रहा था.
तभी मेरी चूतमें अजीब सी चिपचिपी महसूस हुई.

मैं करवट बदल कर भाई के विपरीत होकर लेट गयी.
उसके बाद कुछ नहीं हुआ.

मैं सुबह उठी तो भाई सो रहा था.
उसे देख कर मेरे चेहरे पर कोई गुस्सा नहीं बल्कि मुस्कान थी.

मैं उठ कर बाथरूम चली गयी और तैयार होकर नाश्ता बनाने लगी.

मैंने जब दिन में नोटिस किया तो देखा भाई मुझे अजीब ही नजरों से देख रहा था.
ऐसा मैंने कभी नोटिस नहीं किया था.

मैंने नेट पर सर्च किया तो मुझे ऐसी बहुत सी घटनाएं मिलीं, जिसमें भाई बहन के बीच में शारीरिक रिश्ता बनता है.
तो मैंने भी सोच लिया था कि मैं अपने भाई को वो दूंगी, जिसकी उसको जरूरत है.

मुझे पता था एक सप्ताह बाद ही मामा की लड़की की शादी है, तो मम्मी पापा वहीं चले जाएंगे.
मेरे पास यही एक सप्ताह था जिसमें मैं भाई को अपनी ओर आकर्षित कर सकती थी.

मैंने उस रात में भाई से कहा- भाई नींद नहीं आ रही है, चलो कोई मूवी देखते है न!
वो राजी हो गया और उसने लैपटॉप पर मूवी चला दी.

मैंने 15 मिनट बाद ही गर्मी के बहाने से अपना टॉप उतार दिया जिसे देख कर भाई का मुँह खुला रह गया.

मैंने कहा- भाई मूवी देखो, मुझे क्या देखते हो.
उसने कहा- मैं तो हर सेक्सी चीज़ ही देखना चाहता हूँ.

मैंने पूछा- सेक्सी कैसे लगते हैं?
उसने वो मूवी बंद करके मुझसे कहा- रुक … दिखाता हूँ.

उसने दूसरी मूवी शुरू कर दी, जिसमें भाई बहन साथ में नाश्ता कर रहे थे.
उसके बाद बहन अपने रूम में जाकर अपने कपड़े बदलने लगी.

जैसे ही उसने अपने कपड़े उतार कर ब्रा पैंटी पहनना शुरू किया, तभी उसका भाई उसके रूम में आ गया.
वो अपनी बहन से बात करते हुए उसे किस करने लगा.

इस सीन के बाद मेरे भाई ने मुझसे कहा- देख सेक्सी बहन को देख कर भाई क्या कर रहा है. तेरा कुछ करने का मन किया?

मैंने उससे पूछा- क्या तुम्हारा भी ऐसे ही मन कर रहा है?
उसने मेरी तरफ देखते हुए कहा- हां.

फिर उसने मुझे किस करना शुरू कर दिया.
मैं भी भाई का साथ देने लगी.

उसने अपना एक हाथ मेरी चूतपर रख दिया.
मैं सिहर कर जरा पीछे हट गयी.

उसने मुझे फिर से पकड़ लिया और मूवी दुबारा से शुरू करके मुझे किस करने लगा.

फिर धीरे से मेरी ब्रा खोल दी और मुझे लेटा कर मेरी चूची पीना शुरू कर दी.

सच में मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.
तभी उसने एक हाथ नीचे ले जाकर मेरी लोवर नीचे कर दी और मेरी पैंटी के अन्दर हाथ डालकर मेरी चूत पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.
इस बार मैंने उसका साथ दिया और अपनी चूत अपने भाई से रगड़वाने लगी.

थोड़ी ही देर में मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया और मैं भाई से अलग होकर सो गयी. भाई भी मुझसे चिपक कर सो गया.

अगली रात में मेरे भाई ने एक दूसरी मूवी चलायी, जिसमें भाई अपनी सोती हुई बहन को चोद रहा था.

मुझे भी ये तरीका सही लगा. अगली रात मैंने भाई की जगह ही लेट कर चादर ओढ़ ली और सोने का नाटक करने लगी.
आज मैंने अपनी लोअर, टी-शर्ट खुद ही निकाल कर रख दी थी.

भाई जैसे ही आया और मुझे सोता देख कर उदास मन से बिस्तर पर बैठ गया.
उसने अपना लैपटॉप खोल कर पोर्न नाम का फोल्डर ओपन किया और उसमें भाई बहन सेक्स की वीडियो खोजने लगा.

कुछ ही पलों में उसने उनमें से एक फिल्म शुरू कर दी.
फिल्म शुरू हो गई और उस ब्लू-फिल्म को देखते देखते भाई ने अपने हाथ से चड्डी उतार कर अपना लंड पकड़ लिया.

फिर चादर को ओढ़ने के लिए जैसे ही उसने मेरी चादर को उठाया, तो मुझे ब्रा पैंटी में देख कर उसका लंड बहुत टाइट हो गया.

उसने अपनी मूवी में आवाज तेज कर दी और मेरे जिस्म को चूमना शुरू कर दिया.

मैं मस्त होने लगी मगर मैंने आंखें नहीं खोलीं. उसने धीरे से मुझे सीधा कर दिया और मेरी ब्रा उतार कर मेरी चूचियों से खेलने लगा.

फिर वो अपने लंड को मेरी चूचियों में फंसा कर रगड़ने लगा और मुँह से अजीब अजीब आवाज निकलने लगा.

तभी उसे मम्मी पापा के रूम में लाइट जलती दिखी तो उसने अपना लैपटॉप बंद कर दिया और मेरे बगल में लेट गया.

मुझे अपने मम्मों के ऊपर कुछ चिपचिपा सा महसूस किया. मैंने उंगली से उसे उठाया और चखा.
मुझे उसके लंड का प्रीकम बड़ा ही मजेदार लगा.

फिर हम दोनों सो गए.

मेरी आंख सुबह खुली तो मैंने अपनी ब्रा खोजकर पहनी और रोज के काम में लग गई.

कुछ देर बाद भाई उठ गया.

आज मम्मी पापा जाने वाले थे.

जब मैं उसे नाश्ता करा रही थी, तभी मम्मी ने भाई से कहा- बेटा स्टेशन जाने के लिए ओला बुक कर दो.
ये सुनकर मैं बहुत खुश हुयी.

मम्मी पापा के जाने के बाद तो मुझे पूरी छूट मिल गई थी.
अब बस मुझे ये तय करना था कि मैं अपनी चूत अपने भाई को कैसे दूँ.

रात में खाने के बाद मैं तो पूरी तरह से तैयार थी कि आज मेरा भाई मेरे ऊपर फ़तह हासिल कर ले.
लेकिन मैं अपने भाई की तैयारी से अंजान थी.

उसने अपने लैपटॉप बैग में कंडोम, सेक्स की गोली का पैकेट रखा था. उस पैकेट से 3 गोलियां गायब थीं.

मैं सोचने लगी कि ये कब से रखी होंगी और तीन गोलियां कब खा ली गई होंगी.

मैंने लैपटॉप खोल कर देखा तो नेट पर पेज खुला हुआ था.
तभी मुझे लगा कि मेरा भाई आ रहा है, तो मैं लैपटॉप बंद करके सोने का नाटक करने लगी.

उसने आकर मुझे दूध पीने को दिया.
मैं उससे गिलास लेकर दूध पीने लगी.

मुझे वो कुछ अजीब सा लगा, पर मैं इस ख़ुशी में पी गयी कि रात में क्या क्या हो सकता है.

मेरे अन्दर एक अजीब सी गर्मी चढ़ने लगी थी.
मैं सोचने लगी कि ये कैसा होने लगा है.

फिर मुझे दूध का बदला स्वाद याद आने लगा.
मैं समझ गई कि भाई ने मुझे दूध में सेक्स की दवा खिला दी है.
मैं भाई की तरफ देखा तो वो एकदम से बदला बदला लग रहा था.

उसने अपने लैपटॉप में वही पोर्न फिल्मों से एक फिल्म चलायी, जो 2 घंटे की थी.
आज उसने आवाज भी थोड़ी तेज़ रखी.

मैं दूध पी कर सोने का ड्रामा करने लगी थी.
तभी उसने कहा- गर्मी में इतने कपड़े क्यों पहन रखे हैं, उतार दे ना.

मैंने वैसा ही किया.
अपना टॉप और लोअर निकल कर रख दिया और आंख बंद करके लेट गई.

तभी लड़की की आवाज आई- आह चोद दो मुझे भाई!
मैं ये आवाज सुनकर गर्म हो गई.

फिर लड़की और तेज़ चिल्लाई- आह मर गई!
मैंने आंख खोल कर देखा तो उसका भाई उसकी एक टांग उतार उठाए उसे चोद रहा था और मेरा भाई क्रीम, कंडोम के पैकेट निकाल रहा था.

मैंने फिर से अपनी आंख बंद कर ली.
तभी मुझे अन्दर से अजीब सा मन होने लगा.
उस लड़की की आवाज सुन कर मेरा भी मन करने लगा कि कोई मेरी चूत फाड़ दे.

मैं अपने भाई का इन्तजार कर रही थी कि तभी मेरे भाई ने मेरे बगल में से लैपटॉप हटा कर दूर रखा और मेरी चूची को ब्रा से ऐसे मुक्त किया, जैसे उसकी अपनी हो.

वो पूरे हक़ से मेरे जिस्म के साथ खेल रहा था.
फिर उसने मेरी पैंटी उतार कर मेरी चूत में उंगली घुसाने की कोशिश की.

मुझे दर्द हुआ तो मैं हिल गयी.
उसने मेरे बदन को किस करना शुरू कर दिया.
धीरे धीरे मेरी चूत में से पानी निकलने लगा.
उसने मेरी चूत में अपनी उंगली चलाना जारी रखी.

फिर थोड़ी सी क्रीम लेकर मेरी चूत में उंगली घुसा दी. मुझे फिर से दर्द हुआ, पर मैं हिली नहीं. भाई की उंगली पूरी अन्दर घुस गयी.

फिर वो उसे अन्दर बाहर करने लगा, जिससे मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

एक तो उस वीडियो से आ रही उस लड़की की कामुक आवाजें … और मेरे भाई की हरकतें मुझे गनगनाने लगी थीं.

भाई मेरे पूरे शरीर को किस करके मुझे इतना ज्यादा गर्म कर चुका था कि बस अब मेरा मन हो रहा था कि वो मेरी चूत फाड़ दे.

फिर उसने मेरी चूत पर कुछ ठंडा ठंडा लगाया, जिससे मेरी आंखें खुल गईं.

मैंने देखा कि उसने फ्रिज में रखी आइसक्रीम उठा ली थी, वो आइसक्रीम मेरी चूत में भरने का प्रयास कर रहा था.

मुझे ये सब बहुत अच्छा लग रहा था. फिर उसने मेरी चूत चाटना शुरू कर दिया.
मेरे मुँह से धीरे धीरे से कामुक आवाजें निकलने लगीं.
पर उसका ध्यान मेरी चूत पर था, तो उसे पता नहीं चला.

पूरी आइसक्रीम लगी चूत चाटने के बाद उसने फिर से अपनी उंगली मेरी चूत में डाली.
अबकी बार उसने दो उंगलियां चूत में डाल दी थीं. उसकी उंगलियां मेरी चूत को चीरते हुए सीधे अन्दर चली गईं.
मैं एकदम से दर्द से कलप गई, मेरी मुट्ठियां भिंच गईं.

दोस्तो, मैं इस सेक्स कहानी को अगले भाग में पूरा लिखूंगी.
तब तक आप मुझे मेल करें कि आपको हॉट सिस्टर Xxx कहानी कैसी लग रही है.
[email protected]

हॉट सिस्टर Xxx कहानी का अगला भाग: भाई से चूत की सील तुड़वा ली- 2

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top